Happy Scribe Logo

Transcript

Proofread by 0 readers
[00:00:01]

टीएसएस लॉक ओडियो एक्सपीरियंस। हैलो मेरे चुलबुले दोस्तों मैं हूं आशा लेकर आई हूं चुलबुली टेरेंस चुलबुली टेल्स। हम तीन दादी नानी का ग्रुप हैं जो आप के लिए हमेशा लाते हैं मजेदार कहानियों का खजाना। चुलबुली टेल्स के खजाने में से आज की कहानी है चीकू मैकू की समझदारी चीकू और मी को। ये थे दो प्यारे से खरगोश नन्हे खरगोश खरगोश मतलब बनी रहते थे जंगल में एक बार। उन्होंने सोचा क्यों न एक मजबूत सांप स्ट्रांग इंसान घर बनाया जाए ताकि कोई जंगली जानवर वाइल्ड एनिमल उन्हें हर्ट न कर पाए। फिर क्या था फटाफट दोनों की मेहनत से एक सुंदर सा लेकिन स्ट्रांग सा घर तैयार हो गया। मजे से रहने लगे दोनों उसमें जल्दी ही विंटर सीजन आ गए। ठंड खूब ठंड खूब ठंड पड़ने लगी। चीकू और मैकू ने घर के फायर प्लेस में आग जलाई और गर्मी का आनंद लेने लगे। लेकिन हम वहां घूम रहे एक चालाक फॉक्स ने देख लिया था उन दोनों को और वह उन दोनों को खाने की फिराक में था। हां तो उस ठंडी वाले दिन उस चालाक फॉक्स ने नाम किया चीकू में कुकर दरवाजा अरे जंगल में कौन आया सरप्राइज स्थित दोनों पर उन दोनों ने दरवाजा नहीं खोला। खिड़की में से पूछा कौन है वहां और एक खरगोश भाई। मैं हूं फॉक्स। इतनी ज्यादा ठंड में कांप रहा हूं। क्या तुम थोड़ा सा दरवाजा खोल दोगे। मैं सिर्फ अपनी पूंछ अंदर डालूं और गरम कर लूं। चीकू मिक्की ने सोचा क्या फर्क पड़ता है। पहुंच ही तो अंदर ले रहा है तो उन्होंने दरवाजा थोड़ा सा खोल दिया।

[00:02:09]

फॉक्स ने पूंछ अंदर खिसका दी।

[00:02:12]

थोड़ी देर में फॉक्स ने कहा हां कितना अच्छा लग रहा है पर यदि तुम दोनों थोड़ा सा दरवाजा और खोल दो तो मैं अपने पीछे के दोनों पांव भी अंदर करूं ताकि वह भी जरा गर्म हो जाए।

[00:02:29]

चीकू और निक्कू ने एक दूसरे को देखा कुछ इशारा किया और चीकू ने गैस पर गरम खोने के लिए पानी रख दिया। एक बड़े बर्तन में और मैकू।

[00:02:42]

उसने जाकर थोड़ा सा दरवाजा और खोल दिया। चालाक फॉक्स ने अपने पीछे के दोनों पांव अंदर कर लिए। थोड़ा समय बीता फिर फॉक्स ने कहा अरे चीकू मैकू तुम दोनों कितने अच्छी हों। मेरा इतना ध्यान रख रहे हो थोड़ा सा दरवाजा और खोल देते तो बड़ा एहसान होता। मैं अपने आगे के दोनों पांव भी अंदर कर लेता। पूरा शरीर गर्म हो जाता।

[00:03:10]

चीकू और मैकू समझ रहे थे। चालाक फॉक्स की चालाकी। उन्होंने मुस्कुराकर थोड़ा सा दरवाजा और खोला। फॉक्स ने अपने अगले पांव भी अंदर कर लिए। अब फॉक्स की पूरी बॉडी अंदर थी। सिर्फ मुंह बाहर था। चीकू ने जाकर चैक किया। पानी गर्म होकर उबलने लगा था। तभी फॉक्स ने फिर कहा अरे चीकू चीकू तुम्हारे जैसे दोस्त कहां मिलते हैं आजकल कितने अच्छे हो तुम मेरा पूरा शरीर अब गर्मी में सिर्फ नाक ठंडी है। अगर तुम थोड़ा सा दरवाजा और खोल दो तो मैं नाम भी गर्म कर लूं। मैकू ने इशारा किया और चीकू जाकर उबलता हुआ गर्म पानी ले आया।

[00:03:57]

निक्कू ने दरवाजा खोला और चालाक फॉक्स मुंह अंदर करके चीकू मैकू को पकड़ने के लिए झपटा और इधर चीकू ने गरम पानी उसपर उड़ेल दिया। उसमें मर गया में जल गया। गर्म पानी आ और फॉक्स तेजी से जंगल की तरफ भागने लगा।

[00:04:18]

भागते हुए चिल्ला रहा था। मैं तुम्हें नहीं छोडूंगा मैं वापस आऊंगा। मैं तुम्हें खा जाऊंगा। चीकू और मैं खुद जानते थे कि फॉक्स जरूर लौटेगा। इसलिए वो दोनों घर की छत पर चढ़कर छुप गए। उनका डाउट सही था फॉक्स लौटा पर उसके साथ थे 10 और फॉक्स। उन्होंने आते ही दरवाजे को नॉक करना शुरू किया।

[00:04:45]

खोलो खोलो हम तुम्हें नहीं छोड़ेंगे।

[00:04:48]

खन्ना दरवाजा पर अंदर चीकू में कुछ तो नहीं थे न दरवाजा कौन खुलता। सब फॉक्स ने मिलकर दरवाजा तोड़ दिया।

[00:04:58]

कहां है कहां से इधर उधर। अंदर बाहर सब जगे। अरे अरे वो देखो हो पर बैठे हैं वहां हैं।

[00:05:07]

एक फॉक्स चिल्लाया सब चिल्लाए पकड़ो पकड़ो उन्हीं पर कैसे जले हुए फॉक्स ने कहा मेरे पास एक आइडिया है मैं सबसे नीचे खड़ा हो जाता हूं। फिर मेरे ऊपर दूसरा फिर एकबार फिर एकाउंट। फिर एक और ऐसे सीडी बन जाएगी और सब एग्री हो गए। सबसे नीचे जला हुआ फॉक्स खड़ा हुआ। जल्दी ही एक के ऊपर एक और सीडी तैयार हो गई। जैसे ही सबसे ऊपर वाले फॉक्स ने हाथ बढ़ा कर चीकू को पकड़ने की कोशिश की।

[00:05:43]

चीकू चिल्लाया जुल्मी को जल्दी से गरम पानी ला। वो लोगों पर तक पहुंच गए हैं।

[00:05:51]

सीक्रेट बात थी क्या चीकू चीकू के पास गरम पानी था। नहीं ना।

[00:05:57]

पर नीचे खड़े हुए फॉक्स ने जैसे ही ये सुना वह डर गया क्योंकि वो ऑलरेडी एक बार जला हुआ था और वो घबरा कर वहां से भागा।

[00:06:08]

जैसे ही वह भागा उसके ऊपर के सब फॉक्स स्टार धड़ धड़ धड़ाम गिरेंगे और फिर सारे फॉक्स भाग गए। इतने डर गए थे वे सब कि वे लौट के फिर कभी नहीं आए। चीकू और मी को नीचे उतरे।

[00:06:24]

अपने घर का टूटा हुआ दरवाजा ठीक किया और आराम से अपने घर में रहने लगे।

[00:06:30]

देखा बच्चों जरा सी चतुराई से अलर्टनेस से नन्हे नन्हे दो खरगोशों ने वाइल्ड फॉक्स को कैसे भगा दिया जो मुसीबत आने पर बिना घबराए थोड़ी सी अकल से काम लेते हैं ना। वो हमेशा विनर बनते हैं। आज की कहानी कैसी लगी बच्चों फिर नई कहानी के साथ जल्दी मिलेंगे। चुलबुली टेल्स की मजेदार कहानियों को सुनते रहने के लिए ईपी आग मीडिया वेबसाइट पर या अपने फेवरेट स्ट्रीमिंग एप जैसे कि जियो सावन गाना गूगल पॉडकास्ट स्पोर्टी फाय जरूर सब्सक्राइब करें ताकि आपको हमारी नई कहानियों के नोटिफिकेशन मिलते रहें तो जुड़े रहिए। चुलबुली टेल्स के साथ।